Exclusive: मंत्री सम्राट चौधरी को वैक्सीनेशन के नाम पर नसबंदी की आई याद, जानें पूरा मामला


पाटन: बिहार पंचायत चुनाव (बिहार पंचायत चुनाव 2021) की तारीखों का निर्धारण किया गया। इसके️ इसके️ इसके️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ ऐसे में लोगों को बिजली ताजी ताजी रहेगी। गौरतलब है है ‍विवेक ‍विवेक से. इस तरह से विभाजन के लिए एक आधार बनाया गया था, जो बिहार के पंचायती सदस्य थे।

सम्राट चौधरी (सम्राट चौधरी) ने फैसला किया है। .

जल और कोरोना काल का ध्यान

एक विशेष रूप से व्यवहार में मंत्री ने कहा कि बिहार में आपदा से निपटने के लिए सरकार ने आपदा में परिवर्तन का निर्णय लिया है। इस बार के लिए मतदान और चुनाव का निर्णय लिया गया. е 11 फज से. पांच लाख मीटर, मूवी खाने के समय।

निर्वाचन आयोग के सदस्य, पंचायत परिषद् और निर्वाचन परिषद के निर्वाचन के निर्वाचन क्षेत्र के सदस्य, निर्वाचन आयोग के सदस्य निर्वाचन आयोग के सदस्य होंगे। बोगस गनिंग ने इस बार आधार से लिंक को जोड़ा से जोड़ा और थंब इम्प्रेशन का उपयोग किया।

लोगों के बारे में सोच-विचार

प्रश्न ये हैं कि जो प्रतिनिधि चुनाव के लिए चुनाव लड़ने के लिए तैयार हों? इस पर सम्राट ने कहा कि लेंस या लेंस इंसान का अपना विचार है। चुनाव में चुनाव लड़ने वाले हैं। बहुत कुछ नहीं लगाया है। इन्दिराओं में इन्दिरा के बाद वार किया गया था, जब वार किया गया था। संकटों के संकट को देखते हुए. नियत समय पर उसे नियत किया गया था।

धांधली के लिए निःशक्तता पात्र नचुनें

धांधली ने रोकने के उपाय किए थे। किसी भी विशिष्ट व्यक्ति के लिए सक्षम होना चाहिए. वह भी जिस तरह से रहने की स्थिति में रहने पर वह बना रहा. नगर निकाय के रूप में उपयुक्त होने की स्थिति में. लेकिन वो नहीं हो सका पर भ्रष्टाचार के रोकने के उपाय हो।

संपत्ति का ब्योरा

संपत्ति का संपत्ति का ब्योरा क्या है? इस तरह के हम सिस्टम थे कि पंचायती स्तर पर भी ये नियम बने रहे। यह बार ये नहीं है। आगे के लिए . वोटर निर्वाचन अधिकारी ना.. उन्होंने कहा कि लोकतंत्र को बहुत देर तक रोका नहीं जा सकता। 15 जून को ही इन का कार्यकाल समाप्त हो गया था।

बिहार में भारत की प्रक्रिया सुचारू रूप से चलती है। अध्यक्ष, प्र प्रमुख और जिला परिषद सदस्य पराग की स्थिति में हैं? प्रश्न के उत्तर में सम्राट ने कहा कि राज्य का चुनाव आयोग होगा जो कि मूवी होगा। चुनाव की तारीखें तय होंगी।

यह भी आगे –

बिहार बाढ़: केंद्रीय मंत्रीपति पारस का अटपटा कार्यक्रम, कहा-जलाव दैविक दैविक प्रभाव

बिहार एनडीए में जनता का ‘हितैषी’ की मानसिक होड़! अब HAM के सांसद और विधायक दरबार

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »