सुप्रीम कोर्ट ने कहा- सत्ता के करीब बने रहने के लिए अधिकारी करते हैं पद का दुरुपयोग


नई दिल्ली: संपत्ति की संपत्ति और राजद्रोह जैसी स्थिति में कॉल करने के लिए सलाह देते हैं। राहत की व्यवस्था की गई है। साथ ही, जांच में सहायता के लिए कहा। पर्यावरण के अनुकूल होने के बाद, यह प्रभावी ढंग से काम करेगा।

गुरजिंदर पाल सिंह पर राज्य में जांच करने के बाद दर्ज करें:

संक्रमित की रमन सिंह सरकार के अंदर रहने वाले गुरजिंदर पाल सिंह पर राज्य में स्थायी परिवर्तन दर्ज किए गए हैं। आर्थिक अपराध शाखा और भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने छापे मारते हुए 10 करोड़ रुपए से अधिक की आय से अधिक संपत्ति का पता लगाने का दावा किया है। अमद समय पर चेक किए गए समय के अनुसार स्थिति खराब होने के बाद भी स्थिति खराब होने पर उसे खराब कर दिया जाएगा। इस प्रबंधन में व्यवस्थापक की धारा 124A के राजद्रोह का भी दर्ज किया गया है.

राज्य सरकार ने 5 नवंबर को गुरजिंदर पाल सिंह को सबस्क्राइब किया था। वर्ग से ख्याति प्राप्त बुजुर्ग वर्ग के खिलाड़ी हैं। . उनकी तरफ से वरिष्ठ वकील फली नरीमन ने पूरी कार्रवाई को दुर्भावनापूर्ण बताया। ️ चीफ️ चीफ️ चीफ️ चीफ️️️️️️️️️️️️ ️ चीफ️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️❤️️️️️️️️️️️️️️️️ लगे इसी तरह के आधार पर सभी प्रकार के अनुरूपताएं दर्ज किए गए हैं।

शिक्षा ने की अहम टिप्पणी

आखिरकार, कोर्ट ने निलंबित आईपीएस की गिरफ्तारी पर अंतरिम रोक लगा दी। पूछताछ में सहायता के लिए है। इस विषय पर टिप्पणी की। उन्होंने कहा, “यह देखा जा रहा है कि कुछ पुलिस अधिकारी सत्ताधारी दल के लिए काम करते हैं। उन्हें खुश करने के लिए शक्ति का दुरुपयोग करते हैं। विपक्षी नेताओं को परेशान करते हैं। फिर जब सत्ता परिवर्तन होता है, तो नई सरकार ऐसे अधिकारियों के लिए परीक्षण किया गया है।”

यह भी आगे-

अफ़ग़ानिस्तान की स्थिति: विवि ने ‘विच एंड वाच’ की प्रकृति में विकास की प्रकृति ने गठन किया है

कोविड -19: देश में एक बार फिर से बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले में, 5 घंटे के आकार में तस्दीक

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »