शायर मुनव्वर राणा के खिलाफ मध्य प्रदेश के गुना में दर्ज हुई FIR



<पी शैली ="टेक्स्ट-एलाइन: जस्टिफाई;">गुना: रामायण के महर्षि वालमी पर चिंतक भाषी प्रविष्टि के प्रसंग में मुनव्वर राणा पर शहर कोतवाली धारा 505 और दर्ज की गई थी। राणा पर प्रथम श्रेणी में प्रवेश किया गया था, ऐसे में सिटी कोतवाली में साइट पर जलसी कर में हेज रतनगंज जिला लुधियाना में था।

उल्‍नीयलेखी पारस्परिक महर्षि वाल्मी से पर शायर मुनबंर के विपरीत दिशा अजा है के प्रांत के मंत्री सुरेंद्र माली की अध्यक्षता में वाल्मी समाज और दैवीय आपदा प्रबंधन ने आपदा प्रबंधन को सूचित किया। शायरी पर प्रकाशित होने की स्थिति को प्रकाशित करने के लिए लागू किया गया था।

भगवान वाल्मीकी की प्रतिभाओं से की थी

इस पर गत दिवस शहर . इस केस पर गौरीशंकर शर्मा ने जीत पर गौरीशंकर शर्मा की जांच की थी। पूर्व विधायक सदस्य व नप राजेंद्र सह सह सलूजा, पूर्व स्थाइस अध्यक्ष राधेश्याम परिखं सहित बड़ी संख्या में वाल्मी समाज के सदस्य व युवा जनमति थे।

दरअसल शायर मुनव्वर की जान से वाल्कि की कीड़ों की है। टीवी कार्यक्रम प्रिंट करने वाले कार्यक्रम कार्यक्रम में मुनव्वर ने कहा कि यह भी 10 साल बाद होगा। मुनव्वर ने कहा कि बालमिक एक लेखक। हिन्दू धर्म में तो भी कहूँगा। सुनहरी मालवीय ने रत्नों की हत्या की है।

भगवान की पूजा अर्चना करें

सुनील मालवीय ने कहा कि, महर्षि वाल्मीकि नवाबी रामायण के रचनाकार हमेशा हमलोग थे। श्री मालवीय के अनुसार, उसने यह टिप्पणी की। खराब समाज, वाल्मीकि के ठीक विपरीत है।

इसके अलावा।

<एक शीर्षक="ए संचार से वार्ता के बाद रोएं भारत के लिए खतरनाक हैं, कहा---आज का पहला खतरनाक" href="https://www.abplive.com/news/india/exclusive-afghanistan-mp-anarkali-kaur-said-today-taliban-worse-than-ever-1957761" लक्ष्य ="">ए रिपोर्ट्स से संवाद करने के लिए वे आक्रामक होकर हमला करेंगे, कहा- आज का पहला

झारखंडः पंडा धर्मरक्षिणी परिषद् ने दी सचेत, कहा- 26 तक बाबा मंदिर भगवान विष्णु

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »