बीजेपी पर भड़के सतीश चंद्र मिश्रा, बोले- राम मंदिर के नाम पर किया छलावा, ब्राह्मणों के साथ धोखा


सतीश चंद्र मिश्रा ने बीजेपी पर साधा निशाना बसपा ने कीटाणु मार डाला है। कहा जाता है कि ब्राह्मण समाज बहकावे में है। रामला के नाम पर नोट किए गए। यूपी (उत्तर प्रदेश) में हर का हाल बेहाल है। राम मंदिर (राम मंदिर) के नाम पर कुछ नहीं। भोजन मंदिर के नाम पर 1993 से पैसा खर्च कर सकते हैं, इतना पैसा दोबारा खर्च करें?

; इस क्लास से 2022 में बापा की टाइपिंग की अपील करेंगे। बसपा सतीश मिश्रा ने शुरुआत से ही बेहतर शुरुआत की, लेकिन वे बाद में थे। ब्राम्हणों को व्यवस्था और स्थिति पर हमला बोला।

“उद्योग अच्छी तरह से कर सकता है”
मिश्रा ने कहा कि बसपा की सरकार के पूरे वृंदावन को अपनी सरकार में विकसित किया गया। सीवर लाइन से स्टैंड, बस बने बने रहने से समग्र विकास. किसी भी प्रकार से परिवर्तित होने के बाद भी ऐसा नहीं होगा। हाल ही में दुनिया का सबसे खराब मौसम है। मंदिर ब्रेक-ब्रेकिंग शिवलिंग खंडित कर। − . . .

“राम मंदिर के नाम परछलावा”
सतीश चंद्रा मिश्रा ने कहा कि आदेश के ठीक होने के बाद ही लोगो को ठीक रहेगा। अयोध्या में पूरी तरह से न हों, न आधारशिला न भूमि छलावा। यह कहा गया था कि यह सबसे अहितकारी है। डेवलेप करने के लिए एन.टी.एम. न खाता न खाता पेशी दी। 16 साल की होने वाली लड़की को खुश किया गया।

“बसपा के समय में ब्राह्मणों का उत्तेजन”
मिश्रा ने आगे कहा कि 2007 के पहले ब्राह्मण समाज में, 2007 में बसपा की सरकार में सबसे अधिक उत्थान हुआ। ब्राह्मण समाज ने फिर से लिखा है I वायु प्रदूषण समाज के साथ भाईचारा बना रहे हैं और राज्य में एक बार कीट की सरकार बना रहे हैं।

ये भी आगे:

राष्ट्रपति उत्तर प्रदेश का दौरा: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आज का दूसरा दिन, जानें का कार्यक्रम

शूटिंग केस: तो राणा को बीमार होने वाले, बाद में जी रहने के बाद- मोदी से परिवार के बच्चे के रिश्तेदार

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »