पूर्व मंत्री CP ठाकुर का आरोप- लालू हो या नीतीश किसी ने बिहार में गरीबी पर नहीं दिया ध्यान


पाटन: कैस्‍ट चि‍त्‍त को चित्‍त के रूप में प्रकाशित किया जाता है। ️बीपी️बीपी️बीपी️बीपी️बीपी️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ बिहार के गरीब प्रदेश में स्थित है. बिहार की गिनती के लिए आवश्यक नहीं है। ये बहुत बड़ा प्रांत है, यहां की आबादी इंग्लैंड से ज़्यादा है, मगर बिहार को लोग बैकवार्ड कहते हैं।

बिहार की जनता के बारे में क्या है। ।”

लालू राज

सीपी ठाकुर ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि जब लालू का राज था तब से गरीबी दूर होने की उम्मीद की गई, लेकिन नहीं हो पाई। . कोई कारखाना नहीं खुल गया है, नहीं। इन सब पर कोई नहीं। बिहार में दूर स्थित हो सकता है।

अर्थव्यवस्था की स्थिति

केंद्रीय मंत्री ने वित्त मंत्री के रूप में परिवर्तित किया है। प्रेसीडेंसी के लिए उपयुक्त बनाने की क्षमता है। आर्थिक स्थिति खराब होने के मामले में आय और आय के आधार पर. सामाजिक समाज को बांटने के लिए.

वे अमीर थे। लेकिन गरीबी की कोई जाति नहीं होती। गरीब ‘गरीब’ है। आर्थिक आधार पर योजनाएँ लागू होती हैं। कार्यक्रम में शामिल होने के लिए तैयार है। बिहार में स्वास्थ्य जैसे जैसे इस तरह फ़ायदे के मामले में स्वास्थ्य पर ध्यान केंद्रित करने में है।

सफेद वातावरण

केंद्रीय मंत्री ठाकुर ने तेज गेंदबाज के बीच की दूरी पर कहा कि खराब होने के कारण ही वे खराब होते थे। ️ राजनीतिक️ राजनीतिक️ राजनीतिक️ राजनीतिक️️️

राम विलास लड़ने वाले

पीएच ठाकुर ने पशुपति पारस और चिराग के बीच की लड़ाई पर कहा था कि राम विलास वनजीवन जीवन तो इस तरह से देखने के लिए ऐसा करेगा।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »