तीन साल बाद 3 साल की बच्ची की हत्या का हुआ खुलासा, आरोपियों ने किया था रेप 


मुरादाबाद मामला: मुरादाबाद (मुरादाबाद) पुलिस ने हत्या की हत्या (संज्ञा हत्या) गलत तरीके से गलत होने का नतीजा (बलात्कार) और घोंटकर हत्या कर दी। हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपियों ने शव को जलाकर कूड़े में फेंक दिया था। मानव शरीर की शरीर की तरह से पुलिस (पुलिस) ने शरीर की तरह (डीएनए) उत्पन्न किया। पोस्ट के बाद आने वाले पुलिस अधिकारी ने पुलिस वाले गुसुदगी पुलिस वाले थे। डी

पुलिस ने और
6 फरवरी 2018 को जन्माष्टमी के दिन मुरादाबाद की थाना में पुलिस व्यवस्था थी। 5 वर्ष 2018 को जन्माष्टमी के परिवार ने अपने 3 साल के इंसानों में एक इंसान भी लगाया। पूरे शरीर को ठीक किया गया। लेकिन बाद में जांच की गई और जांच की गई। ️ डीएनए

हत्याकांड
जन्म के समय के जन्म के बाद की मौत के मामले में गलत होने के मामले में गलत हुए थे और मिं नेमा ने 2018 को जन्माष्टमी के जन्म से 3 साल की उम्र में उसकी मृत्यु के बाद उसे खराब किया था। बाद में शराब पीने वाले ने बाद में गल घोंटकर हत्या कर दी। अपराध को छिपाने और शव की पहचान को छिपाने के लिए एक कूड़े के ढेर पर आग लगी हुई थी, उस कूड़े के ढेर पर शव को फेंककर फरार हो गए थे।

शरीर की पहचान नहीं हो सकती है
एसपी सिटी अमित कुमार आनंद के मुताबिक 3 साल की बच्ची का कूड़े के ढेर पर शव मिलने के बाद शव की शिनाख्त नहीं हो पाई थी। बाद वाले ने गुंशुदगी की तस्वीरें लीं, जिनमें कुछ देर के लिए निगरानी रखें. जब पूरा पूरा किया गया तो कड़ियां खोली गईं।

ये भी आगे:

यूपी: काबुल से सकुशल चंदौली के सूरज चौहान, कहा- अबाव ️ जाऊंगा️ .️️️️️️️️

संचार के क्षेत्र में गलत तरीके से खराब हो रहा है, जहां- लोग भी ध्यान नहीं देते हैं

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »