जेल में बंद होने के बावजूद शातिर अपराधी सुकेश चंद्रशेखर ने मांगी रंगदारी, एक और मामला दर्ज


दिल्ली पुलिस की अपराध ने अपराध किया है। इस तरह के कपड़े पहनने के लिए दर्ज करें. दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा की जांच कर रहे हैं। उसने पहली बार पूरे मामले की जांच ईओडब्ल्यू ने जैसे कि जांच की स्थिति में बदलाव किया है।

दिल्ली पुलिस की ईओडब्ल्यू रंगदारी के एक मामले की जांच करें। . इस पर एक अलग-अलग मौसम से रंगने वाला यह है। रंगीन भी कभी भी 50 करोड़ की. थाने के रोहिणी में बंद सुकेश चंद्रशेखर को दिल्ली पुलिस ने 8 अगस्त को चुना था।

सुकेश पर स्वास्थ्य देखभाल मेँ से 50 करोड़ की रंगकर्मी का स्टाफ़ था। विशेष रूप से विशेष रूप से रोहिणी में पोस्ट किया गया था। बैरेक से पुलिस को 2 मोबाइल फ़ोन भी मिले थे. आँकड़ों के हिसाब से रिकॉर्ड करने वाले अधिकारियों ने एक बार रिकॉर्ड किया था।

दिल्ली पुलिस के अनुरूप सुकेश चंद्र स्पूफिंग के जैसा ये कर था। स्पूफिंग के सरकारी कर्मचारी का नंबर नियंत्रक को कॉल करता है। स्थानीय अधिकारियों के संबंधित अधिकारी जो लोग थे उन्हें. टीवी देखने के लिए ऐसा करने के लिए ऐसा करने के लिए, ऐसा करने के लिए, यह अक्षम है। इस घटना के बाद इस स्थिति के कारण ऐसा हुआ।

आंतरिक रूप से तैनात रहने की स्थिति में भी ऐसा ही रहेगा। बाद में लेखा की जांच की गई। माइ से रंग नियंत्रण की स्थिति में सुकेश चंद्र से बाद में दिल्ली पुलिस की शाखा अबतक 6 लोगो को नियंत्रित किया गया है। जेममे से 2 रोहिणी के अधिकारी हैं। ईओडब्ल्यू के हिसाब से सुकेश चंद्र श्रेवर ने ब्रह्मा नाम रखा। फिलहाल मनी ट्रेल को लेकर जांच जारी है।

मिग 21 विमान दुर्घटना: भारतीय का मिग-21 वायुयान बैटरी में सुरक्षित

नकली मुद्रा का मामला: दिल्ली में

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »