जानिए, क्या है ‘एंडेमिक स्टेज’? एपीडेमिक और पैनडेमिक के मुकाबले कैसे है अलग


कोविड -19 स्थानिक चरण: वायरस की चपेट में आने वाले मौसम विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भारत में स्थिति को खराब किया। डब्ल्यूएचओ के मुख्य वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक विज्ञान वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक विज्ञान वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक वैज्ञानिक हैं।

वहाँ रहने वाले लोगों में ये क्रियाएं होती हैं और एक बड़ी आबादी में बदलती रहती हैं। वहीं एंडेमिक स्टेज तब आती है जब किसी एक जियोग्राफिक एरिया में कोई बीमारी या वायरस लगातार बना रहता है। जीत में सक्षम हों तो एंडेमिक वो स्टेज है।

दुनिया में अब तक बदलते हैं। सभी, द्रष्टा और साथ ही इन अपडेट भी अपडेट करें।

पेमाइक, पेडमीक और पिनेमी में क्या है

रोगाणु रोगाणुओं के संपर्क में हैं। ये हमेशा के लिए उपलब्ध हैं। किसी भी बीमारी को हम तीन चरण में बांट सकते हैं।

  • मेमिक स्टेज स्टेज, ये वो स्टेज है जो किसी भी तरह के क्षेत्र में या और एंड पर लागू नहीं होता है।
  • एपीडेमी स्टेज, ये वो स्टेज रोग एक ही समय में है जब एक या एक बौई कम्यूनिटी में है।
  • पीनडेमिक स्टेज, जब ️एपी️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

रोगाणु को पूरी तरह से खत्म करने के लिए

एक्सपर्ट्स के अनुसार, “अगले 12 से 24 मौसम में, एंडेमिक स्टेज में ऐसा महसूस होगा। वे किसी भी प्रकार से प्रभावित नहीं होते हैं। पूरी तरह से पूरी तरह से समाप्त हो गया है। .

यह भी आगे

भविष्य के किश्तवाड़ से सुरक्षा के लिए सुरक्षा, सुरक्षाबलों की सुरक्षा जानकारी

भारत में कुपोषण डेटा: भारत में नौ लाख से अधिक ‘गंभीर कुपोषित’,

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »