आज का पंचांग: 27 अगस्त को प्रात: 10 से 12 बजे तक न करें शुभ कार्य, बना है अशुभ योग


आज का पंचांग 27 अगस्त 2021: 27 अगस्त 2021 का प्रदर्शन से कुशल है। पंचांग के कुछ विशेष योग का निर्माण हो रहा है। शुभ कार्य योग करना चाहिए। शुक्रवार के दिन देवी की पूजा का आयोजन किया गया।

आज की पूजा
लक्ष्मी पूजा- पंचांग की तारीख 27 अगस्त 2021, शुक्रवार को भाद्रपद मास के कृष्ण की पंचमी तिथि है। शुक्रवार का दिन लक्ष्मी जी की स्थापना है। लक्ष्मी जी को सुख-समृद्धि और वैभव की विविधता है। लक्ष्मी जी की जीवन में संचार जैसी स्थिति होती है। शुक्रवार के दोपहर और शाम के समय लक्ष्मी जी की पूजा-अर्चना करने से शुभ फल मिलेगा. इस लक्ष्मी जी की आरती और मंत्र का जाप से शुभ फल प्राप्त होगा।

आज का राहु काल
कोरु काल प्रात: 10 बजकर 45 शुक्रवार से दोपहर 12 बजकर 48 बजे तक। रूक काल में काम करने के लिए.

27 अगस्त 2021 पंचांग (पंचांग 27 अगस्त 2021)
विक्रमी संवत: 2078
मास पूर्णिमांत: भाद्रपद
मुर्गी: कृष्ण
दिन: शुक्रवार
दिनांक: पंचमी – 18:51:32 तक
नक्षत्र: अश्विनी – 24:47:57 से
करण: कौलव – 05:59:22 तक, तैतिल – 18:51:32 तक
योग: वृद्धि – 29:52:37 तक
सूर्योदय: 05:56:15 AM
सूर्य ग्रहण: 18:48:47 अपराह्न
चंद्रमा: मीन राशि
द्रिक वर्षा: बर्षा
राहुकाल: 10:45:56 से 12:22:31 तक (इस काल में भी शुभ कार्य है)
शुभ मुहूर्त का समय, अभिजीत मुहूर्त – 11:56:45 से 12:48:16 तक
निर्देश शूल: पश्चिम
घुड़सवारी मुहूर्त का समय –
दुममुहूर्त: 08:30:45 से 09:22:15 तक, 12:48:16 से 13:39:46 तक
कुलिक: 08:30:45 से 09:22:15 तक
कालवेला / याम: 15:22:46 से 16:14:16 तक
यमघंट: 17:05:46 से 17:57:16 तक
कंटक: 13:39:46 से 14:31:16 तक
यमगंद: 15:35:39 से 17:12:13 तक
गुलिक काल: 07:32:49 से 09:09:23 तक

यह भी आगे:
जन्माष्टमी २०२१: कला श्रीकृष्ण के स्वामी, १६ इन कलाओं के बारे में मदर्स हैं? आगे

चाणक्य नीति: ये सूक्ष्म बातें मित्रता के विषय में कमजोर होती हैं, जानें चाणक्य नीति

लक्ष्मी जी: 27 अगस्त को लक्ष्मी जी की पूजा का बन रहा है, शुभ संयोग, ये उपाय

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »