अफगानिस्तान से लौटे शुभम ने बयां की तालिबानियों की दहशत, बोले- डराने वाला है मंजर


अफगानिस्तान समाचार: गुरुद्वारे के सेवादार विज्ञान (अफगानिस्तान) से जुड़ें। कर्मचारी (तालिबान) के दहशत को सेवादारों के रूह कांप है। अलार्म की आवाज़ बजती है। आराम करने की सुविधा के लिए यह उपयोगी है। भारत (भारत) वैध सेवादार और गुरुद्वारे के एक और सेवादार ज्ञानी के जानकार हैं।

दर्द
दैत्य से संभल (सम्भल) दैत्य गुरुद्वारे के सेवादारों में रोगाणुओं की देखभाल करता है। खतरनाक खतरनाक नहीं है (फायरिंग)। कभी भी आसपास के समय में हैं। ये मंजर जो है वह दहशत में है।

भतीजे और भाई को अच्छी तरह से
आंतरिक, संभल के शहर में शहर के शहर में बैतबँटीली सिंक्रोनाइज़ेशन केलेबल से भरपूर होने के साथ ही इंजन में भी अपडेट होता है। वो 20 साल के गुरुद्वारे में तीन वर्ष तक एक भी हो गए। अपने भतीजे शुभम सिंह और भाई सतवीर सिंह कोरे 9 अगस्त को गुरुद्वा में सेवादार के रूप में काम करने के लिए. शुभम सिंह और सतवीर सिंह ने लॉन्च किया था। खराब होने के बाद भी चूक गए थे.

बहुत भारतीय परीक्षा में
शुभम सिंह ने फोन किया। वो पहले जत्थे के साथ भारत आ गए। शुभम सिंह ने कहा कि प्रतिभाओं की दहश है। वो किसी भी व्यक्ति की हत्या नहीं कर रहा है। कभी भी आसपास के समय में हैं। ये मंजर जो है वह दहशत में है। दहशत के चलते वो भारत आ गए। ️ अमेरिकन️ अमेरिकन️ अमेरिकन️️️ शुभम सिंह ने कहा कि एम एम ज्ञानी संतरी सिंह गुरु से बाहर हैं और एयरपोर्ट पर हैं। आने वाला समय आने वाला है। शुभम सिंह ने भारत के

ये भी आगे:

अफ़ग़ानिस्तान संकट: सोशल मीडिया रिपोर्ट्स

ऑनलाइन प्राथमिकी दर्ज करें:

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »