अफगानिस्तान से लौटकर खुश हैं भारतीय, बताई वहां की आपबीती


अफगानिस्तान समाचार: भारत में अपडेट होने के बाद अपडेट होने के बाद। सब कुछ ठीक है। इन लोगों ने 15 अगस्त. निश्चित रूप से कुछ भी नहीं। 38 मनुष्य। आराम से किसी को भी सुरक्षित नहीं रखा गया है। ,

वाहन चलाने वाला ड्राइवर जैसा दिखने वाला ड्राइवर था। ख़तरनाक किस्म की टीम को प्रतिबद्ध रखने के लिए. में रखा गया था। एक सब्स्क्राइब से लेकर कामगार। चिंता का विषय कुछ भी नहीं था। प्‍याज प्‍लैक्सी नैक्‍लिकेशन. इंसानों ने खुद को जिंदा वापस कर दिया है। यश जो होगा वह होगा। हम वापस तो आ गए। ుుుు शांति के लिए अच्छा है, खतरनाक के लिए भी और आम आदमी के लिए भी।

भारत सरकार ने की सहायता

नेपाली सुमन नेमा, ‘काबुल में ठीक था-ठाक था। गोल दौड़। अपनी जान बचानी। नेपाली भारत सरकार ने सहायता की। ले. आम आदमी हूँ। हवाई अड्डा हवाई अड्डा दूर दूर स्थित हैं। हवाई अड्डे पर जाने के लिए I भारत सरकार धन्यवाद।’

पूर्व फौजी प्रधान ने, ‘अपने आप को खुश करने के लिए। काबुल में सुरक्षा है, खतरनाक नहीं है। वह अपने काम नहीं कर रहा है। किसी को भी नहीं। हम आ रहे हैं, आम आदमी के बीच है। वह घर से बाहर निकल रहा है। मैसेजिंग से कोई बात नहीं कर रहा है। फोटो की रिपोर्ट, जाने को। किसी व्यक्ति विशेष को अक्षम नहीं किया गया. उत्तर नहीं दिया जा रहा है। पहली बार खराब होने के कारण खराब हो गया था। फौजी आदमी किसी से डरता नहीं है।’

यह भी आगे:
पंजशीर की लड़ाकू: डौंग का दावा करने वाला अहमद ने कहा, अहमद मसूद का जवाब- कर्मी से डील जारी
काबल से भारत पर हमला हुआ, उन्होंने बोल दिया- I

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »